कांग्रेस ने क्रॉस वोटिंग करने पर गुजरात में 8 विधायकों को 6 साल के लिए पार्टी से निकाला

अहमदाबाद/नयी दिल्ली : गुजरात में असंतुष्टों पर कार्रवाई करते हुए कांग्रेस ने अपने उन आठ विधायकों को छह वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया जिन्होंने राज्यसभा चुनाव में अपनी पार्टी उम्मीदवार के पक्ष में मतदान नहीं किया था. पार्टी महासचिव और गुजरात मामलों के प्रभारी अशोक गहलोत ने बताया कि उन्होंने पार्टी के उन छह विधायकों के निष्कासन की भी सिफारिश की है जिन्होंने विधायक के तौर पर इस्तीफा दे दिया था. बाद में उनमें से तीन भाजपा में शामिल हो गए थे. गहलोत ने कहा कि अनुशासनहीनता कांग्रेस में बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी. जिन्हें निष्कासित किया गया है वे पार्टी विरोधी गतिविधियों में लगे थे. राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि इस साल राज्य में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी और मजबूत होगी. गुजरात प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोशी ने कहा कि आठ विधायक पार्टी के व्हिप का उल्लंघन कर भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में वोट करने को लेकर निष्कासित किये गये हैं. वे शंकर सिंह वाघेला, उनके बेटे महेंद्र सिंह वाघेला, राघवजी पटेल, भोला गोहिल, धर्मेंद्र जडेजा, पी के रौलजी, अमित चौधरी और करन पटेल हैं.  कांग्रेस का आरोप : दो तरह के नोट छापकर मोदी सरकार ने किया देश का सबसे बड़ा घोटाला पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला राज्यसभा चुनाव से पहले ही पार्टी और विधानसभा में विपक्ष के नेता का पद छोड़ चुके थे. उन्होंने विधानसभा की सदस्यता नहीं छोड़ी थी. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल की जीत पर पार्टी की गुजरात इकाई को गहलोत ने धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा, यह गुजरात में पार्टी की एकता ही है जिसने राज्यसभा के चुनाव में अहमद पटेल की जीत सुनिश्चित की.